Friday, February 21, 2020

ये तीन हैं India's most beautiful Political leaders, जानें Website पर

India's Most Political Leaders की बात करते हैं। राजनीति या Politics की जब भी बात होती है, वो महिला नेताओं के बिना पूरी नहीं हो सकती है। महिला नेता भी इस समय पुरुष नेताओं की तरह राजनीति में मशहूर होती जा रही हैं और बड़े-बड़े पदों को संभाल रही हैं। हालांकि खूबसूरती की बात करें तो भारतीय राजनीति में कई ऐसी नेता हैं जो हीरोइनों को टक्कर देती हैं। हम आपको आज तीन ऐसी नेताओं से मिलवाते हैं जो बेहद खूबसूरत है।



नंबर 1 Divya Spandana

जिस पहली खूबसूरत महिला नेता की बात हम कर रहे हैं उनका नाम राम्या यानि दिव्या स्पंदना Divya Spandana है। दिव्या कांग्रेस की मशहूर नेता हैं और अपनी खूबसूरती के कारण काफी चर्चा में रहती हैं। आपको बता दें कि कांग्रेस में राहुल गांधी ने उनको बड़ी जिम्मेदारी दी थी और उनको कांग्रेस मीडिया सेल का इंचार्ज बना दिया था। वो कर्नाटक की रहने वाली हैं और उनकी मां भी राजनीति में थीं। दिव्या शादीशुदा नहीं हैं।

नंबर 2 Dimple Yadav

भारतीय राजनीति की जिस दूसरी नेता की हम बात कर रहे हैं उनका नाम डिंपल यादव Dimple Yadav है। डिंपल यादव यूपी ही नहीं पूरे देश में मशहूर हैं। इसकी वजह उनकी खूबसूरती और बड़े घराने की बहू होना है। सपा प्रमुख अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव कन्नौज से सांसद रह चुकी हैं और उत्तराखंड की रहने वाली हैं। वो मुलायम सिंह के परिवार की बड़ी बहू हैं।

नंबर 3 Angoorlata Deka

तीसरी खूबसूरत महिला नेता का नाम अंगूरलता डेका Angoorlata Deka है। अंगूरलता असम की रहने वाली हैं और अंगूरलता डेका ने असम के बतद्रोवा से भाजपा के टिकट पर जीत हासिल की है। वो भी अपनी खूबसूरती के लिए काफी चर्चा में रहती हैं। 34 साल की अंगूरलता मोदी की बड़ी प्रशंसक हैं। इसी वजह से उन्होंने साल 2015 में भाजपा का दामन थाम लिया था।

Thursday, February 20, 2020

Mayawati के तीन बड़े secret अब तक हर News Website ने आपसे छिपाए

उत्तर प्रदेश Uttar Pradesh की राजनीति में जब भी बड़े नेताओं का जिक्र होता है, मायावती Mayawati का नाम जरूर सामने आता है। मायावती बहुजन समाज पार्टी Bahujan Samaj Party की अध्यक्ष हैं और यूपी के सीएम पद को कई बार संभाल चुकी हैं। मायावती Mayawati के राजनीतिक जीवन के बारे में तो लोगों को बहुत पता होगा लेकिन उनके निजी जीवन की जानकारी कम ही लोगों को होगी। चलिए हम आपको उनके जीवन से जुड़े तीन राज बताते हैं। इनमें से तीसरा राज तो उनके कुंवारे रहने से जुड़ा हुआ है। Know Mayawati Secrets in Political News.



Mayawati का राज नंबर 1

15 जनवरी 1956 को जन्मी मायावती बसपा अध्यक्ष हैं और राजनीति में बेहद सक्रिय हैं। उनकी इच्छा अब प्रधानमंत्री पद संभालने और राष्ट्रीय स्तर का नेता बनने की भी है। हालांकि कम ही लोगों को पता होगा कि मायावती तो राजनीति में आना ही नहीं चाहती थीं। जी हां वो तो आईएएस अधिकारी बनना चाहती थीं। इसी वजह से वो दिल्ली में रहकर सिविल सर्विसेज की तैयारी करना चाहती थीं। हालांकि कांशीराम की वजह से वो राजनीति में आ गईं और उनको 2001 को कांशीराम ने अपना उत्तराधिकारी घोषित किया।

Mayawati का राज नंबर 2

मायावती का दूसरा राज भी बेहद दिलचस्प है। आपको बता दें कि उनके पिता का नाम प्रभुदास था। कम ही लोगों को पता होगा कि मायावती के पिता प्रभुदास उनके राजनीति में जाने के फैसले से बेहद नाराज थे। इतना ही नहीं उनको मायावती और कांशीराम की नजदीकियां भी पसंद नहीं थीं। उन्होंने तो मायावती को कांशीराम से दूर रहने तक को कह दिया था। हालांकि मायावती ने अपने पिता की बात नहीं मानी और कांशीराम के साथ राजनीति में उतरने का फैसला ले लिया।

Mayawati का राज नंबर 3

उनके जीवन से जुड़ा तीसरा राज तो सबसे खास है। ये राज उनके शादी न करने के फैसले से जुड़ा हुआ है। मायावती ने क्यों शादी न करने का फैसला किया। इस राज को उन्होंने पत्रकार राजीव शुक्ला को दिए गए इंटरव्यू में दिया था। मायावती ने बताया था कि उन्होंने शादी न करने का फैसला अपने समाज की वजह से लिया। मायावती ने बताया था कि अगर वो शादी कर लेतीं तो दुनियादारी में उलझ जातीं और इसके बाद मिशन के काम पर ध्यान नहीं दे पातीं। इसी वजह से उन्होंने शादी नहीं की।

Donald Trump की बीवी Melania Trump के तीन बड़े राज, जानें Political news पर

डोनाल्ड ट्रंप Donald Trump दुनिया के सबसे ताकतवर देश अमेरिका America के राष्ट्रपति हैं। वो भारत की यात्रा पर आने वाले हैं। ट्रंप 24 फरवरी को भारत दौरे पर आ रहे हैं। उनके इस दौरे की तैयारियां भारत में जोर-शोर से चल रही हैं। उनके साथ उनकी खूबसूरत पत्नी मेलानिया ट्रंप Melania Trump भी साथ आ रही हैं। अगर आप मेलानिया Melania Trump के बारे में नहीं जानते हैं तो हम आपको उनसे जुड़े तीन राज बताते हैं। इनमें दूसरा राज तो सबसे खास है। information about Melania Trump here it is.



Melania Trump का राज नंबर 1

डोनाल्ड ट्रंप Donad Trump और मेलानिया Melania Trump ने एक दूसरे से लव मैरिज की थी। हालांकि कम ही लोगों को ये राज पता होगा कि मेलानिया ट्रंप अपने पति डोनाल्ड से 24 साल छोटी हैं। जी हां वो इस समय 49 साल की हैं लेकिन जब उन्होंने ट्रंप से शादी की थी तब दोनों की उम्र में बहुत लंबा फासला था। दोनों की साल 1998 में मुलाकात हुई थी। इसके बाद दोनों ने शादी कर ली।

Melania Trump का राज नंबर 2

मेलानिया ट्रंप के बारे में दूसरा राज तो सबसे खास है। कम ही लोगों को पता होगा कि मेलानिया ट्रंप को एक या दो नहीं बल्कि पांच भाषाओं की जानकारी है। जी हां वो पांच भाषाओं को समझ और बोल सकती हैं। इनमें स्लोवेनियन और अंग्रेजी समेत इटालियन, जर्मन और फ्रैंच हैं। आपको बता दें कि स्लोवेनिया की रहने वाली मेलानिया पिछले 200 साल के अमेरिकी इतिहास में अमेरिकी से बाहर जन्मीं पहली फर्स्ट लेडी हैं।

Melania Trump का राज नंबर 3

ट्रंप की पत्नी की तीसरी बात भी बेहद दिलचस्प है। आपको पता नहीं होगा कि वो एक सुपर मॉडल रह चुकी हैं। जी हां इसी वजह से वो अपने को फिट रखने के लिए बहुत मेहनत करती हैं। आपको बता दें कि मेलानिया रोज 7 तरह के फल खाती हैं ताकि स्वस्थ रहें। इतना ही नहीं वो रोज सुबह 5 बजे उठ जाती हैं और इसके बाद कई तरह की कसरत भी करती हैं।

Wednesday, February 19, 2020

Smriti Irani के ये तीन राज आज तक हर website ने आपसे छिपाए

Narendra Modi मोदी सरकार में कद्दावर मंत्रियों की बात करें तो स्मृति ईरानी Smriti Irani का नाम बहुत ऊपर आता है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी Rahul gandhi को उनके ही गढ़ में हराकर अमेठी से सांसद बनी स्मृति ईरानी Smriti Irani इस समय सरकार में अहम पद पर हैं। मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में भी उनके पास अहम मंत्रालय था। इस बार भी वो मंत्री बनाई गई हैं। उनके बारे में लोगों को कम ही पता होगा। आइए हम आपको स्मृति ईरानी से जुड़े तीन राज बताते हैं। इनमें दूसरी राज तो सबसे खास है।



Smriti Irani राज नंबर 1

दिल्ली में जन्मी स्मृति ईरानी महज 38 साल की उम्र में ही मंत्री बन गई थीं। कम ही लोगों को पता होगा कि स्मृति तो राजनीति में आना ही नहीं चाहती थीं। जी हां वो तो मॉडलिंग में अपना करियर बनाना चाहती थीं। उन्होंने इसके लिए अपना शहर दिल्ली छोड़ दिया था और मुंबई में मॉडलिंग करने लगी थीं। वो टीवी सीरियल में भी काम करने लगी थीं। अचानक किस्मत उनको राजनीति में ले आई।

Smriti Irani राज नंबर 2

स्मृति ईरानी का दूसरा राज बेहद खास है। आपको शायद पता नहीं होगा कि उन्होंने जिस इंसान से शादी की है वो तलाकशुदा हैं। उनके पति का नाम जुबिन ईरानी है और वो एक बड़े बिजनेसमैन हैं। आपको पता नहीं होगा लेकिन जुबिन की पत्नी मोना ईरानी थीं जो स्मृति की अच्छी दोस्त थीं। हालांकि बाद में जुबिन ने मोना को तलाक दे दिया और स्मृति से शादी कर ली।

Smriti Irani राज नंबर 3

23 मार्च 1976 को पैदा हुईं स्मृति ईरानी आज भले ही बड़ी मंत्री हों और उनके पति करोड़पति बिजनेसमैन हों लेकिन एक समय स्मृति ईरानी के पास पैसों की बहुत तंगी थी। आपको जानकारी नहीं होगी लेकिन मुंबई में स्मृति ईरानी एक रेस्तरां में काम किया करती थीं। इससे वो अपना खर्च चलाया करती थीं। हालांकि उनकी किस्मत रंग ले आई और वो बड़े मुकाम पर पहुंच गईं।

Tuesday, February 18, 2020

Dimple Yadav के ये तीन राज जानकर चौंक जाएंगे आप, पहला राज तो कर देगा हैरान

उत्तर प्रदेश की राजनीति का जब भी जिक्र होता है, सिर्फ तीन दलों का नाम उभरकर सामने आता है। भाजपा (Bhartiya janta party), सपा(Samajwadi Party) और बसपा(Bahujan samaj party)। समाजवादी पार्टी की बात करें तो इस समय अखिलेश यादव Akhilesh Yadav इस पार्टी को संभाल रहे हैं और अध्यक्ष हैं। लेकिन अखिलेश यादव के जीवन को संभालने वाली उनकी पत्नी डिंपल यादव Dimple Yadav हैं। डिंपल सुर्खियों में नहीं रहती हैं क्योंकि उनको सुर्खियों में रहना पसंद नहीं है। आइए हम आपको डिंपल यादव के जीवन की तीन ऐसी बातें बताते हैं जो आप नहीं जानते होगे।



राज नंबर 1

डिंपल यादव का पहला राज बहुत खास है। आप भले ही उनको एक मंझी हुई नेता के रूप में जानते हों लेकिन आपको ये राज पता नहीं होगा कि डिंपल तो कभी राजनीति में आना ही नहीं चाहती थीं। उनको अखिलेश यादव की जिद की वजह से साल 2009 में फर्रुखाबाद से चुनाव लड़वाया गया था। हालांकि उस दौरान उनकी तुलना राहुल गांधी से होती थी क्योंकि वो ठीक से भाषण नहीं दे पाती थीं। हालांकि बाद में उन्होंने भाषण कला को सीखा और राजनीति में खुद को निखारा।

राज नंबर 2

अब सवाल उठता है कि अगर डिंपल यादव राजनीति में नहीं जाना चाहती थीं तो वो आखिर अपने जीवन में क्या बनना चाहती थीं। असल में डिंपल यादव राजनीति की जगह कारपोरेट वर्ल्ड में अपना करियर बनाना चाहती थीं। हालांकि अखिलेश यादव से साल 1999 में शादी के बाद उनका ये सपना पूरा नहीं हो सका। उनकी अखिलेश यादव से मुलाकात भी लखनऊ में हुई थी।

राज नंबर 3

डिंपल यादव का तीसरा राज बेहद खास है। क्या आपको पता है कि जब डिंपल यादव को अखिलेश यादव से प्यार हुआ था, तब उनकी उम्र क्या थी। आपको बता दें कि उस समय वो नाबालिग थीं। उनकी उम्र 17 साल थी और अखिलेश तब 21 साल के थे। डिंपल उस समय लखनऊ विवि से स्नातक कर रही थीं। उसी दौरान डिंपल और अखिलेश की कॉमन दोस्त की वजह से दोनों की मुलाकात हो सकी थी।
दोस्तो आपको कैसी लगती हैं डिंपल यादव, कृपया कमेंट में जरूर बताने का कष्ट करें। इस न्यूज को शेयर करना बिल्कुल न भूलें और मेरा अकाउंट फॉलो जरूर करें।

Tuesday, February 11, 2020

Delhi Election Result: ये हैं BJP की हार की तीन बड़ी वजह, दूसरी वजह सबसे बड़ी

Delhi Election Result: दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020 यानि Delhi Election के नतीजों का सबको इंतजार था। 11 फरवरी को नतीजे आने के साथ ही भारतीय जनता पार्टी को जोरदार झटका लग गया। Delhi Election Result सुबह से ही रुझान आने शुरू हो गए थे जो Aam Aadmi Party आम आदमी पार्टी के पक्ष में गए और Bhartiya Janta Party भाजपा को करारा झटका लग गया। Arvind Kejriwal अरविंद केजरीवाल पहले से ही अपनी जीत का दावा कर रहे थे। वहीं भाजपा के दावे खोखले साबित हो गए। आइए हम आपको बताते हैं कि कौन सी तीन वजहों से भाजपा दिल्ली चुनाव Delhi Election में मात खा गई। इनमें दूसरा कारण तो सबसे खास है।



वजह नंबर 1(Delhi Election Result)

भारतीय जनता पार्टी के Delhi Election दिल्ली विधानसभा चुनाव में मात खाने का पहला कारण बुनियादी मुद्दों पर जोर न देकर राष्ट्रीय मुद्दों को ज्यादा तवज्जो देना है। भाजपा ने दिल्ली और दिल्लीवालों की समस्याओं पर गहराई से पड़ताल न कर सिर्फ राष्ट्रीय मुद्दों को उठाया जो दिल्ली की जनता को प्रभावित न कर पाया और भाजपा को दिल्ली वालों ने नकार दिया।

वजह नंबर 2(Delhi Election Result)

भारतीय जनता पार्टी के दिल्ली में मात खाने की दूसरी वजह सबसे खास है। भाजपा ने चुनाव लड़ा, जमकर प्रचार भी किया लेकिन भाजपा अपने सीएम पद का चेहरा ही सामने नहीं ला सकी। वो बस मोदी के नाम पर चुनाव लड़ती रही। वहीं दिल्ली की जनता के सामने अरविंद केजरीवाल के रूप में आप का करिश्माई चेहरा था। जबकि भाजपा यहां पर चूक गई और जनता ने केजरीवाल के पक्ष में ज्यादा स्पष्टता देखी और भाजपा को नकार दिया।

वजह नंबर 3(Delhi Election Result)

दिल्ली में भाजपा की हार का तीसरा बड़ा कारण नागरिकता संशोधन कानून और एनआरसी का डर रहा। सीएए के विरोध की वजह से अल्पसंख्यक मत भाजपा से खिसक गए और उन्होंने एकजुट होकर आम आदमी पार्टी के पक्ष में जाना उचित समझा। वहीं भाजपा ने शाहीन बाग के मुद्दे को भुनाने की कोशिश की लेकिन वो दांव भी सफल नहीं हो सका। वहीं कांग्रेस का वोट भी खिसककर आप के पास चला गया।
दोस्तो आपको क्या लगता है भाजपा की हार के और क्या कारण हो सकते हैं, कमेंट में बताएं और न्यूज शेयर करें। हर अपडेट के लिए आप मुझे फॉलो जरूर करें. धन्यवाद।।

Wednesday, December 18, 2019

जानें Asaduddin Owaisi के तीन हैरानी भरे राज, सिर्फ Political News पर

Asaduddin Owaisi की बात करें तो वो India में मुसलमानों के बड़े नेता माने जाते हैं। अपनी बेबाक शैली के लिए मशहूर असदुद्दीन ओवैसी AIMIM यानि ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन पार्टी के अध्यक्ष हैं। Asaduddin Owaisi आंध्र प्रदेश की राजधानी हैदराबाद से सांसद चुने गए हैं। वो एक बार नहीं कई बार से लगातार इस सीट से संसद के दरवाजे पर कदम रख रहे हैं। इसी से उनकी लोकप्रियता का पता लगाया जा सकता है। Asaduddin Owaisi मुसलमानों के हक की आवाज को संसद में पुरजोर तरीके से उठाते हैं। हालांकि उनका विरोध करने वाले भी कम नहीं हैं। उनको BJP के नेता देश को बांटने वाला भी करार दे देते हैं। कई बार उनके बयानों का विरोध भी होता रहा है। हालांकि असदुद्दीन ओवैसी के बारे में बहुत कम लोग जानते होंगे उनकी निजी जिन्दगी के बारे में। आज हम आपको Asaduddin Owaisi की निजी जिन्दगी के तीन राज बताते हैं जिनको जानकर आप भी हैरान हुए बिना नहीं रह सकेंगे। 

Asaduddin Owaisi के जीवन का पहला राज

असदुद्दीन ओवैसी की बात करें तो उनका जन्म हैदराबाद में ही हुआ है। यानि अपनी पैदाइश से Asaduddin Owaisi हैदराबाद के ही रहने वाले हैं। वो कई बार यहां से सांसद रह चुके हैं। 13 मई 1969 को पैदा हुए ओवैसी इस समय 50 साल के हो गए हैं। उन्होंने लंदन से पढ़ाई की है। जी हां हैदराबाद से तालीम पूरी करने के बाद उन्होंने लंदन से पढ़ाई पूरी की। Asaduddin Owaisi के जीवन का पहला राज कम ही लोग जानते होंगे। क्या आपको मालूम है कि ओवैसी एक बहुत अच्छे बॉक्सर हैं। जी हां असदुद्दीन ओवैसी एक जाने माने बॉक्सर हैं और उन्होंने बॉक्सिंग भी लंदन में सीखी है। ओवैसी को बॉक्सिंग का बेहद शौक है और वो कई बार रिंग में अपने हाथ भी आजमा चुके हैं। कम लोगों को मालूम होगा कि अक्सर हैदराबाद में ओवैसी जिम में चले जाते हैं और वहां बॉक्सिंग करने वालों से दो दो हाथ करने से नहीं चूकते हैं। हालांकि ओवैसी पेशे से वकील भी हैं लेकिन उन्होंने राजनीति को अपने लिए चुना है। 

Asaduddin Owaisi के जीवन का दूसरा बड़ा राज

असदुद्दीन ओवैसी के जीवन में कई राज हैं। भले ही ओवैसी को कट्टर नेता माना जाता हो लेकिन असल में वो कट्टर नेता नहीं हैं। वो सिर्फ कट्टर बयान जरूर देते हैं लेकिन वो ऐसा सिर्फ अपनी राजनीति चमकाने के लिए करते हैं। हम आपको इस बात का सबूत देते हैं कि आखिर   Asaduddin Owaisi क्यों धर्मनिरपेक्ष नेता हैं। इसके दो उदाहरण हैं जिनको जानने के बाद आप समझ जाएंगे कि असदुद्दीन ओवैसी वैसे नहीं हैं जैसा वो खुद को दिखाते हैं। इसका पहला उदाहरण उनकी पार्टी की ओर दिए जाने वाले टिकट हैं। एआईएमआईएम जब भी चुनाव लड़ती है तो ओवैसी बिना किसी भेदभाव के टिकट देते हैं। इनमें वो कई बार मुसलमानों को दरकिनार कर हिन्दू नेताओं को टिकट देते हैं। वहीं दूसरा उदाहरण उनका अस्पताल है जो हैदराबाद मौजूद हैं। इस अस्पताल का नाम उस्मानिया अस्पताल है। कम लोगों को पता होगा कि Asaduddin Owaisi के इस अस्पताल में मुसलमानों से ज्यादा हिन्दू काम करते हैं। अपने अस्पताल में भी वो बिना किसी भेदभाव के कर्मचारी नियुक्त करते हैं। 


Asaduddin Owaisi के जीवन का तीसरा बड़ा राज

अब हम आपको Asaduddin Owaisi का तीसरा बड़ा राज बताते हैं जिसको आपने पहले शायद ही कभी सुना होगा। ओवैसी के परिवार के बारे में कम ही लोग जानते होंगे। लेकिन असदुद्दीन ओवैसी के घर में ही एक राज छिपा है जो लोगों को पता ही नहीं है। ये राज उनके छोटे भाई Akbaruddin Owaisi का है। जी हां अकबरुद्दीन ओवैसी उनके छोटे भाई हैं लेकिन आपको बताएं कि उन्होंने किससे शादी की है। असदुद्दीन ओवैसी के छोटे भाई की पत्नी का धर्म क्या है। ये राज हम आपको बताते हैं। असल में असदुद्दीन ओवैसी के छोटे भाई अकबर ने किसी मुस्लिम लड़की से शादी नहीं की है बल्कि उनकी पत्नी ईसाई धर्म की है। जी हां असदुद्दीन ओवैसी की बहू मुस्लिम न होकर ईसाई है। अकबरुद्दीन ओवैसी को एक ईसाई लड़की से प्यार हो गया था। इसके बाद उसने उस लड़की से निकाह कर लिया था। हालांकि इस बात से ओवैसी के पिता बेहद नाराज हो गए थे और उन्होंने अकबर से बोलना ही छोड़ दिया था। धीरे-धीरे पिता और पुत्र के रिश्ते सामान्य हो सके थे। 

दोस्तो आपको कैसे लगे Asaduddin Owaisi के तीन राज, इनमें से कोई राज आप पहले से जानते थे, कमेंट में बताएं और न्यूज को सोशल मीडिया पर शेयर करें। धन्यवाद।।