Tuesday, December 10, 2019

पहली बार नागरिकता संशोधन बिल पर सोनिया गांधी का धमाकेदार फैसला, कर दिया दमदार ऐलान

नागरिकता संशोधन बिल ने भारत की राजनीति में हड़कंप मचा दिया है। भारतीय जनता पार्टी (BJP) सरकार ने जहां इस बिल(Citizenship Bill) को लोकसभा में पेश कर दिया और पारित भी करवा लिया, वहीं अब ये बिल राज्यसभा में पारित होने के लिए पेश किया जाना है। गृहमंत्री अमित शाह(Amit Shah) ने इस बिल को लेकर लोकसभा में दमदार बहस की और विपक्षियों के सवालों का बेबाकी से जवाब दिया। अब राज्यसभा में बिल पास होगा या नहीं, इस बारे में फैसला जल्द ही होगा। लेकिन इसी बीच कांग्रेस (congress) ने  नागरिकता संशोधन बिल (Citizenship Bill) को लेकर दमदार ऐलान कर दिया है। कांग्रेस पार्टी बड़ा काम करने जा रही है। 

कांग्रेस(congress) ने किया था लोकसभा में विरोध

इस बिल को जब लोकसभा में पेश किया गया तो कांग्रेस पार्टी ने सदन के भीतर ही इस बिल का जबरदस्त विरोध किया था। कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने इस बिल को सांप्रदायिक बताया था। इतना ही नहीं उन्होंने कहा था कि ये बिल देश में बंटवारा लाएगा। सिर्फ कांग्रेस ही नहीं बल्कि दूसरे दलों ने भी इस बिल का विरोध किया है। इनमें बसपा, सपा से लेकर तृणमूल कांग्रेस हैं। ममता बनर्जी(mamata banarjee) ने तो ऐलान कर दिया है कि इस बिल को वो बंगाल में लागू ही नहीं होने देंगी। 


सड़कों में भी हुआ इस बिल का जोरदार विरोध

कांग्रेस ही नहीं बल्कि इस बिल के विरोध में सीपीआई तो सड़क पर उतर आई है। पटना में मंगलवार को सीपीआई ने इस बिल का विरोध किया। सीपीआई नेता कन्हैया कुमार(kanhaiya kumar) तो इस बिल को लेकर ही भड़क उठे हैं। उन्होंने भाजपा सरकार के इस बिल को जिन्ना का बिल करार दिया है जो देश में बंटवारा लाने वाला है। उन्होंने कहा है कि इस बिल का वो लगातार विरोध करते रहेंगे। वहीं दूसरी ओर कांग्रेस पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी(Rahul Gandhi) ने तो इस बिल को ही संविधान पर हमला करार दे दिया है। इतना ही नहीं राहुल ने ये भी कह दिया है कि इस बिल का देश में जो भी समर्थन करेगा, वो देश की नींव नष्ट कर देगा। 


जानें कांग्रेस ने किया बिल के विरोध में कौन सा दमदार ऐलान

सोनिया गांधी ने पहली बार इस बिल के विरोध में दमदार फैसला ले लिया है। कांग्रेस ने इस विधेयक के विरोध में धमाकेदार ऐलान कर दिया है। कांग्रेस इस बिल का विरोध करने जा रही है। कांग्रेस ने ऐलान कर दिया है कि बुधवार को कांग्रेस भाजपा मुख्यालय के बाहर ही आएगी और इस बिल का विरोध करेगी। इतना ही नहीं कांग्रेस ने दमदार ऐलान करते हुए कहा है कि पूरे देश में इस बिल का कांग्रेस की ओर से विरोध किया जाएगा। कांग्रेस पार्टी ने अपने सभी इकाइयों को आदेश जारी कर कहा है कि नागरिकता संशोधन विधेयक 2019 के खिलाफ मुख्यालयों पर धरना दिया जाए।

No comments:

Post a Comment