Wednesday, December 11, 2019

राज्यसभा में नागरिकता संशोधन बिल के पास होते ही भड़क उठी सोनिया गांधी, मोदी से बोलीं आज भारत...

भारतीय जनता पार्टी(BJP) की सरकार को बुधवार को बड़ी सफलता हाथ लग गई है। नागरिकता संशोधन बिल(CITIZEN AMENDMENT BILL) बुधवार को राज्यसभा से भी पास हो गया है। CAB को पास करवाने के लिए भाजपा सरकार के गृहमंत्री अमित शाह(Amit Shah) ने जमकर तैयारी की थी। उन्होंने पहले इस बिल को लोकसभा में भी पेश किया था। वहां से इस बिल को पास करवा लिया गया था। अब नरेंद्र मोदी(Narendra Modi) सरकार ने इस बिल को राज्यसभा से भी पास करवा लिया। जैसे ही ये बिल राज्यसभा से पास हुआ, सोनिया गांधी(Sonia Gnadhi) ने चुप्पी तोड़ दी। आइए जानें कांग्रेस(Congress) पार्टी की कार्यकारी अध्यक्ष ने क्या बयान दिया है।

CAB के पक्ष में राज्यसभा में रही ये तस्वीर 

नागरकिता संशोधन बिल राज्यसभा से पास हो गया है। बुधवार को CAB के पास होने का आंकड़ा हम आपको बताते हैं। कुल 230 सांसदों ने इसमें हिस्सा लिया। इनमें से बिल के पक्ष में पड़े वोटों की बात करें तो 125 सांसदों ने इस बिल का पक्ष लिया और इसके साथ खड़े रहे औऱ समर्थन में मतदान किया। वहीं विरोध की बात करें तो कुल 105 सांसदों ने इसका विरोध किया और बिल के खिलाफ मतदान किया। हालांकि समर्थन करने वालों की संख्या ज्यादा होने की वजह से बिल राज्यसभा से भी पास हो गया। इससे पहले ये बिल लोकसभा में रखा गया था जहां बिल के समर्थन में 311 और विरोध में 80 मत पड़े थे। 


अब राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद(Ramnath Kovind) के पास जाएगा

लोकसभा औऱ राज्यसभा से Citizen amendment bill को हरी झंडी मिल गई है। अब ये बिल कानून बनने के लिए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के पास भेजा जाएगा। उनके हस्ताक्षर के बिना ये बिल कानून में नहीं बदल सकता है। राष्ट्रपति की मंजूरी मिलते ही CAB कानून में बदल जाएगा। हालांकि लोकसभा के जैसे ही बुधवार को राज्यसभा में भी कांग्रेस पार्टी के सांसदों ने जमकर इस बिल का विरोध किया। कांग्रेस सांसद आनंद शर्मा ने इस बिल को बंटवारा करने वाला विधेयक करार दे दिया। उन्होंने अमित शाह(Amit Shah) का विरोध किया। अमित शाह इस बिल को पास करवाने के लिए सांसदों के सवालों का जवाब दे रहे थे। हालांकि उनको कांग्रेस समेत दूसरे सांसदों को समझाने में बहुत परेशानी हुई। 


जानें क्या बोलीं सोनिया गांधी(Sonia Gandhi)

जैसे ही नागरिकता संशोधन बिल(CAB) लोकसभा के बाद राज्यसभा में भी पास हो गया, वैसे ही कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी(Sonia Gandhi) ने इस बिल को लेकर अपनी चुप्पी तोड़ दी। उन्होंने इस बिल के पास होने पर बड़ा बयान दे दिया। सोनिया गांधी ने कहा कि आज भारत के संवैधानिक इतहास का सबसे काला दिन है। कांग्रेस कार्यकारी अध्यक्ष ने कहा कि जिसके लिए हमारे देश के निर्माताओं ने लड़ाई की थी, ये बिल उस भारत की सोच को चुनौती दे रहा है। Sonia Gandhi ऩे कहा कि नागरिकता संशोधन बिल का पास होना छोटी और कट्टर सोच वाली ताकतों की देश के बहुलतावाद पर विजय है। इसके साथ ही उन्होंने बड़ा बयान देते हुए कह दिया कि अब विकृत भारत बनेता जिसमें धर्म ही राष्ट्रीयता की पहचान होगा। 

इस वजह से हो रहा है CAB का विरोध

अब हम आपको बताते हैं कि आखिर असदुद्दीन ओवैसी(Asaduddin owaisi) से लेकर दूसरे सांसद और दल इस बिल का विरोध क्यों कर रहे हैं। असल में नरेंद्र मोदी(Narendra Modi) हों या अमित शाह(Amit Shah) सभी ने मिलकर इस बिल का जो प्रारूप तैयार किया है उसमें कहीं भी मुसलमानों का जिक्र नहीं है। यानि इस बिल में शरणार्थी के तौर पर छह धर्मों को जगह दी गई है। इन छह धर्मों में मुसलमानों का नाम नहीं है। इसी वजह से विरोध दल BJP का विरोध कर रहे हैं और इस बिल को मुसलमानों के साथ भेदभाव के नजरिए से देख रहे हैं। उनका कहना है कि ये बिल देश को बांटने का काम करने वाला है। हालांकि विरोध के बाद भी भाजपा ने इस बिल को पास करवाने में कामयाबी हासिल कर ली है। 

दोस्तो आपको क्या कहना है इस बिल को लेकर, कमेंट में जरूर बताएं। क्या ये बिल देश के लिए सही है या भाजपा सिर्फ राजनीति कर रही है, कमेंट में जरूर बताएं।

No comments:

Post a Comment