Saturday, December 14, 2019

Jashodaben Modi के ये तीन सच नहीं जानते होंगे आप, Political News पर जानें



भारत के प्रधानमंत्री Narendra Modi के बारे में तो सब जानते हैं। हालांकि उनके निजी जीवन का सच भी लोगों से छिपा हुआ नहीं है। वो सच है उनका शादीशुदा जीवन जो साल 2014 से पहले राज ही बना रहा। नरेंद्र मोदी ने कभी भी इससे पहले नहीं स्वीकारा था कि वो विवाहित हैं। हालांकि साल 2014 में हलफनामे में उन्होंने पहली बार अपनी बीवी का नाम लिखा जो जशोदाबेन मोदी Jashodaben modi था। आप लोगों ने जशोदाबेन मोदी के बारे में बहुत कुछ नहीं सुना और जाना होगा। कम ही लोग उनके बारे में जानते हैं। Jashodaben Modi के बारे में हम आपको उनके तीन सच बताते हैं जिसको जानकर आप भी हैरान हो जाएंगे। इतना ही नहीं इन तीन सच को जानने के बाद आप मोदी की पत्नी जशोदाबेन की और इज्जत करने लग जाएंगे।


Jashodaben modi का पहला सच

नरेंद्र मोदी ने अपनी पत्नी जशोदाबेन मोदी को बहुत समय पहले ही छोड़ दिया था। इसके बाद वो अपनी राजनीतिक यात्रा पर निकल गए थे। मोदी तो राजनेता बनने चले गए थे लेकिन क्या आपको पता है कि इसके बाद उनकी पत्नी ने क्या किया था। जशोदाबेन मोदी ने अपने पति की ओर से छोड़े जाने के बाद पढ़ाई को अपना जीवनसाथी बना लिया। उन्होंने गुजरात के धोलका से अपनी पढ़ाई लिखाई को पूरा किया और इसके बाद एक सरकारी स्कूल में अध्यापिका बन गईं। उन्होंने पूरे जीवन पढ़ाई की और साल 2009 में नौकरी से रिटायर हो गईं। आपको उनका पहला सच बताएं कि भले ही मोदी ने उनको छोड़ दिया हो लेकिन उनके भाई कमलेश ने बड़ा सच बताया कि वो अपने पति के बारे में छपने वाली खबरें रोज अखबार से लेकर टीवी पर देखा करती थीं और अपनी जिन्दगी गुजारा करती थीं। 

Jashodaben Modi का दूसरा बड़ा सच

भारतीय जनता पार्टी BJP नरेंद्र मोदी की ओर से छोड़े जाने के बाद जशोदाबेन मोदी अपने भाई कमलेश के साथ रहा करती थीं। उनके भाई गरीब थे और एक छोटी सी दुकान चलाया करते हैं। जशोदाबेन मोदी नौकरी के बाद समय मिलता तो भगवान की भक्ति किया करती थीं। उनके भाई का घर गुजरात के ऊंझा गांव में है। यहीं पर दोनों रहा करते थे। कम ही लोग जानते होंगे कि जिस वक्त उनकी नरेंद्र मोदी से शादी हुई, तब उनकी उम्र बस 15 साल की थी। वहीं नरेंद्र मोदी 17 के हुआ करते थे। मोदी की बारात उनके गांव आई थी तो दो दिन रुकी थी। जशोदाबेन मोदी का दूसरा सच आपको बताते हैं। आप सोचते होंगे कि मोदी ने उनको छोड़ दिया तो क्या उनके मन में मोदी के प्रति दुर्भावना थी। इसका जवाब है उनके मन में मोदी के प्रति कभी दुर्भावना नहीं रही। jashodaben modi ने हमेशा माना कि मोदी को शादी नहीं करनी थी लेकिन उनके पिता ने उनकी जबरन शादी करवा दी थी। हालांकि उन्होंने हमेशा मोदी को अपना पति मानकर इज्जत दी। 


Jashodaben Modi का तीसरा बड़ा सच 

अब हम आपको बताते हैं कि जशोदाबेन मोदी कैसे रहती हैं। प्रधानमंत्री की पत्नी होने के बाद भी उनका रहन सहन एकदम साधारण है। उनके मन में किसी तरह का कोई अहंकार नहीं है। Jashodaben modi अपने परिवार के साथ अपनी पेंशन में गुजारा करती हैं। उनको जब मोदी ने अपनी पत्नी के रूप में स्वीकारा तो उनको लगा जैसे उनकी तपस्या पूरी हो गई हो। इसकी वजह थी कि पति से दूर रहने के बाद भी उनके मन में कभी मोदी से दूरी नहीं रही। वो हमेशा मोदी को अपना पति मानती थीं। अब हम आपको उनका तीसरा सच बताते हैं जिसको जानकर आप उनकी इज्जत करने लग जाएंगे। भले ही उनके पति मोदी ने उनको छोड़ दिया हो लेकिन जब भी उनके भाई या घरवाले मोदी के बारे में कुछ भी बुरा बोलते थे तो जशोदाबेन नाराज हो जाती थीं। इतना ही नहीं वो सामने वाले को टोक देती थी और बुरा बोलने से रोक देती थी। एक आदर्श भारतीय नारी का पर्याय जशोदाबेन मोदी हैं। 

दोस्तो आपको क्या लगता है जशोदाबेन मोदी कैसी महिला हैं, कमेंट में जरूर बताएं और न्यूज शेयर करें। हर अपडेट के लिए फॉलो जरूर करें। धन्यवाद।।

No comments:

Post a Comment